इजरायल-हमास युद्ध में रिटायर्ड भारतीय कर्नल की मौत पर MEA ने जताया दुख, घटना की होगी पूरी जांच


इजरायल-हमास युद्ध का एक दृश्य।- India TV Hindi

Image Source : AP
इजरायल-हमास युद्ध का एक दृश्य।

नई दिल्लीः इजरायल-हमास युद्ध के दौरान संयुक्त राष्ट्र कर्मी के तौर पर गाजा में मानवीय मदद करने में जुटे भारतीय सेना के सेवानिवृत्त कर्नल की मौत पर संयुक्त राष्ट्र के बाद भारत ने भी गहरा दुख जाहिर किया है। भारत ने बुधवार को कहा कि गाजा में संयुक्त राष्ट्र के साथ काम करने वाले भारतीय नागरिक कर्नल (सेवानिवृत्त) वैभव अनिल काले की मौत पर उसे गहरा दुख हुआ है। विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के साथ-साथ तेल अवीव और रामल्ला में इसका दूतावास काले के पार्थिव शरीर को भारत वापस लाने में हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं।

गत सोमवार को गाजा के रफाह क्षेत्र में काले के वाहन पर हुए हमले में उनकी मौत हो गई। विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘13 मई को गाजा में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा विभाग (डीएसएस) में सुरक्षा समन्वय अधिकारी कर्नल वैभव अनिल काले (सेवानिवृत्त) की मौत से हमें गहरा दुख हुआ है।’’ उसने यह भी कहा ‘‘हम उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हैं।’’ विदेश मंत्रालय का कहना है, ‘‘न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र में हमारा स्थायी मिशन और तेल अवीव और रामल्लाह में हमारे दूतावास पार्थिव शरीर को भारत वापस लाने में सभी सहायता दे रहे हैं और घटना की जांच के संबंध में संबंधित अधिकारियों के संपर्क में बने हुए हैं।’ 

इजरायली हमले के शिकार हुए थे कर्नल वैभव

बता दें कि कर्नल वैभव अनिल काले (46) 2022 में भारतीय सेना से समय पूर्व सेवानिवृत्त हुए थे और दो महीने पहले संयुक्त राष्ट्र के सुरक्षा एवं संरक्षा विभाग (यूएनडीएसएस) में सुरक्षा समन्वय अधिकारी नियुक्त किए गए थे। सोमवार की सुबह यूएनडीएसएस के अन्य कर्मचारियों के साथ वह संयुक्त राष्ट्र के वाहन में रफह स्थित ‘यूरोपियन अस्पताल’ जा रहे थे तभी हमले की चपेट में आ गए जिसमें उनकी मौत हो गई और जोर्डन का एक अन्य डीएसएस कर्मचारी घायल हो गया। समझा जाता है कि वाहन पर इजरायली टैंक की ओर से कार्रवाई की गई थी। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के उप प्रवक्ता फरहान हक ने कहा, “हम भारत की सरकार और लोगों के प्रति खेद और संवेदना व्यक्त करते हैं।” उन्होंने कहा, ”भारत ने जो योगदान दिया है हम उसकी सराहना करते हैं।” हक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने घातक हमले की जांच के लिए एक टीम का गठन किया है। (भाषा)

यह भी पढ़ें

अब दुबई जाना, रहना होगा और आसान; UAE-भारत के बीच जल्द होने जा रहा ये बड़ा समझौता

 

Latest World News





Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading