अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन से मिले NSA अजीत डोभाल, आईसीईटी समेत अहम मुद्दों पर हुई चर्चा


 Jake Sullivan and NSA Ajit Doval meeting - India TV Hindi

Image Source : PTI
Jake Sullivan and NSA Ajit Doval meeting

US NSA Jake Sullivan India Visit: भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने सोमवार को अपने अमेरिकी समकक्ष जेक सुलिवन के साथ विस्तृत चर्चा की और इस दौरान उन्होंने मुख्य रूप से महत्वाकांक्षी ‘महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियों पर भारत-अमेरिका पहल’ (आईसीईटी) के क्रियान्वयन, द्विपक्षीय रक्षा संबंधों और क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति पर ध्यान केंद्रित किया। सुलिवन 17 से 18 जून तक दिल्ली की यात्रा पर हैं, जो मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के लिए सत्ता में आने के बाद अमेरिका के जो बाइडेन प्रशासन के किसी वरिष्ठ अधिकारी की पहली भारत यात्रा है। 

सुलिवन के साथ है उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) सुलिवन के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है जिसमें अमेरिका के वरिष्ठ सरकारी अधिकारी और उद्योग जगत के दिग्गज शामिल हैं। ऐसी जानकारी मिली है कि दोनों देशों के एनएसए ने प्रस्तावित भारत-मध्य पूर्व-यूरोप आर्थिक गलियारे (आईएमईसी) पर भी विचार-विमर्श किया, जिसकी शुरुआत में पश्चिम एशिया में मौजूदा स्थिति के मद्देनजर देरी हो रही है। 

द्विपक्षीय मुद्दों पर भी हुई चर्चा 

डोभाल-सुलिवन वार्ता से परिचित लोगों ने बताया कि यह यात्रा से दोनों एनएसए को प्रगति की समीक्षा करने और आईसीईटी के लिए नई प्राथमिकताएं निर्धारित करने का अवसर है। दोनों एनएसए ने द्विपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा की और आपसी हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भारत-अमेरिका साझेदारी की समीक्षा की। मंगलवार को, दोनों एनएसए भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा आयोजित उद्योग सीईओ के साथ भारत-अमेरिका आईसीईटी गोलमेज में प्रतिभागियों को संबोधित करेंगे। डोभाल और सुलिवन द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर नियमित परामर्श करते रहे हैं। 

विदेश मंत्री से हुई सुलिवन की मुलाकात 

सुलिवन की भारत यात्रा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बीच इटली के अपुलिया क्षेत्र में G7 शिखर सम्मेलन के दौरान हुई संक्षिप्त बातचीत के तीन दिन बाद हुई है। बाइडेन प्रशासन के शीर्ष अधिकारी ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी मुलाकात की। उनके प्रधानमंत्री मोदी से भी मिलने की उम्मीद है। जयशंकर ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, “आज सुबह नई दिल्ली में अमेरिकी एनएसए जेक सुलिवन का स्वागत करते हुए प्रसन्नता हो रही है। द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों की एक विस्तृत श्रृंखला पर व्यापक चर्चा हुई।” उन्होंने कहा, “मुझे विश्वास है कि भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी हमारे नए कार्यकाल में मजबूती से आगे बढ़ेगी।” 

कई क्षेत्रों में काम कर रहे हैं भारत और अमेरिका 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने मई 2022 में तोक्यो में क्वाड सम्मेलन से इतर ‘आईसीईटी’ की शुरुआत की थी। उसके बाद दोनों एनएसए ने सेमीकंडक्टर, कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI), क्वांटम कम्प्यूटिंग, रक्षा नवाचार, अंतरिक्ष और आधुनिक दूरसंचार समेत नई एवं उभरती प्रौद्योगिकियों के विविध पहलुओं पर साझेदारी के क्षेत्रों को चिह्नित करने के लिए समन्वित प्रयास किए हैं। दोनों पक्षों ने आईसीईटी के अंतर्गत नए क्षेत्रों को शामिल किया है, जिसमें जैव प्रौद्योगिकी, महत्वपूर्ण खनिज और दुर्लभ मृदा प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी, डिजिटल कनेक्टिविटी, डिजिटल सार्वजनिक अवसंरचना और उन्नत सामग्री शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें:

पाकिस्तान सरकार ने इमरान खान की पार्टी को चेताया, कहा ‘बंद करें राष्ट्र विरोधी गतिविधियां’

Hajj 2024: हज यात्रियों ने अदा की अंतिम रस्में, लू लगने से 14 हाजियों की हुई मौत

Latest World News





Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Verified by MonsterInsights