नेस्ले को शेयरधारकों ने दिया जोर का झटका, रॉयल्टी बढ़ाने के प्रस्ताव को ठुकराया

Nestle -Live India News
Photo:FILE नेस्ले

Nestle: रोजमर्रा के इस्तेमाल के उत्पाद (एफएमसीजी) बनाने वाली प्रमुख कंपनी नेस्ले इंडिया ने अपनी मूल कंपनी को शुद्ध बिक्री के 4.5 प्रतिशत की मौजूदा दर पर रॉयल्टी का भुगतान करना जारी रखेगी। कंपनी के शेयरधारकों ने रॉयल्टी बढ़ाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। नेस्ले इंडिया ने बयान में कहा कि कंपनी के निदेशक मंडल ने अपनी बैठक में सोसायटी डेस प्रोड्यूट्स नेस्ले एसए (लाइसेंसकर्ता) को 4.5 प्रतिशत की मौजूदा दर पर सामान्य लाइसेंस शुल्क (रॉयल्टी) का भुगतान जारी रखने को मंजूरी दी है और कंपनी के सदस्यों से उनकी मंजूरी के लिए सिफारिश की।

बोर्ड ने रॉयल्टी बढ़ाने की दी थी मंजूरी

इस साल अप्रैल में, नेस्ले इंडिया के बोर्ड ने अपनी मूल कंपनी को अगले पांच साल के लिए प्रति वर्ष 0.15 प्रतिशत रॉयल्टी भुगतान बढ़ाने को मंजूरी दी थी। इसने एक जुलाई, 2024 से वृद्धि को लागू करने का प्रस्ताव रखा था। इसके बाद, इसने डाक मतपत्र के माध्यम से एक साधारण प्रस्ताव के रूप में अपने शेयरधारकों से अनुमोदन मांगा था। हालांकि, शेयरधारकों ने पिछले महीने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया, जिसमें साधारण प्रस्ताव के खिलाफ कुल मतों में से 57.18 प्रतिशत और पक्ष में 42.82 प्रतिशत मत थे।

केवल स्वतंत्र निदेशकों ने मतदान किया

प्रस्ताव के पक्ष में अपेक्षित बहुमत की कमी के कारण साधारण प्रस्ताव पारित नहीं हुआ। केवल स्वतंत्र निदेशकों ने मतदान किया और कार्यकारी निदेशकों ने खुद को अलग कर लिया। इसके अलावा, बोर्ड ने सिद्धार्थ कुमार बिड़ला को कंपनी में स्वतंत्र गैर-कार्यकारी निदेशक के रूप में नियुक्त करने को मंजूरी दी। बिड़ला की नियुक्ति 12 जून, 2024 से पांच साल की अवधि के लिए प्रभावी है।

Latest Business News

Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Verified by MonsterInsights