चावल का स्क्रब स्किन को देता है गजब का निखार, डेड स्किन का हो जाता है सफाया; जानें बनाने और लगाने का तरीका

चावल का स्क्रब - India TV Hindi

Image Source : SOCIAL
चावल का स्क्रब

स्क्रबिंग हामरे स्किन केयर रूटीन का एक अहम हिस्सा है।जब हम स्क्रब नहीं करते हैं तो उस वजह से स्किन पर डेड सेल्स जम जाते हैं जिससे स्किन पर डार्क स्पॉट्स आने लगते हैं।ऐसे में हमे इस रूटीन को हमेशा अपनी स्किन केयर में शामिल करना चाहिए। स्क्रब करने के लिए आप चावल का भी इस्तेमाल क्र सकते हैं। बिलकुल सही पढ़ रहे हैं आप, चावल का स्क्रब एक लोकप्रिय नेचुरल एक्सफोलिएंट है।मृत त्वचा कोशिकाओं को धीरे से हटाने, खुरदुरे धब्बों को चिकना करने और चमकदार, मुलायम त्वचा पाने के लिए किया जाता है। चलिए जानते हैं आप घर पर चावल का स्क्रबर कैसे बनाएं?

चावल के स्क्रब से स्किन को मिलते हैं ये फायदे:

चावल का स्क्रब डेड स्किन सेल्स को एक्सफोलिएट कर उन्हें पूरी तरह से हटाता है। त्वचा की बनावट और रंगत में सुधार करता है। पिग्मेंटेशन और झुर्रियों पर भी लगाता है लगाम। अनइवेन स्किन को टोन करता है।

चावल का स्क्रब बनाने के लिए सामग्री:

2 बड़े चम्मच बिना पका हुआ चावल, 1 बड़ा चम्मच नारियल तेल, 1 बड़ा चम्मच शहद

चावल का स्क्रब कैसे बनाएं:

सबसे पहले एक ब्लेंडर जार या फिरइमाम दस्ता में चावल को दरदरा पीस लें। चावल के दरदरदा पाउडर में 1 बड़ा चम्मच नारियल तेल, 1 बड़ा चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिलाएं। आपक स्किन स्क्रबर तैयार है।

कैसे करें स्क्रबर का इस्तेमाल?

अब स्क्रब को अपनी त्वचा पर हल्के हाथों से लगाएं और मालिश करने वाले गोल मोशन में लगाएँ। स्किन को हल्के हाथों से रगड़ें। अब गर्म पानी से अपना चेहरा धोएं और थपथपाकर सुखाएँ। स्किन को एक्सफोलिएट करते समय बहुत ज़्यादा न रगड़ें। खासकर संवेदनशील त्वचा पर। आप इस स्क्रबर का इस्तेमाल कोहनी, घुटने जैसे डार्क एरिया पर भी कर सकते हैं। बेहतर परिणामों के लिए सप्ताह में एक या दो बार उपयोग करें। इस स्क्रब को 2 सप्ताह तक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर कर सकते हैं।

 

Latest Lifestyle News

डिस्क्लेमरः यह Live India News की

 

ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. Live India News की टीम ने संपादित नहीं किया है

Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Verified by MonsterInsights