‘आ गए मेरी मौत का तमाशा देखने’, अस्पताल में एडमिट थे नाना पाटेकर, छुट्टी लेकर शूटिंग करने पहुंचे और…


nana patekar- India TV Hindi

Image Source : INSTAGRAM
नाना पाटेकर।

दिग्गज अभिनेता नाना पाटेकर ने अपने करियर में एक से बढ़कर एक फिल्म में काम किया। वह जिस भी फिल्म का हिस्सा होते थे, उसमें लीड एक्टर कोई भी हो चर्चा उन्हीं की होती थी। अपनी अदाकारी से वह ऑडियंस के दिमाग पर छा जाते थे। ‘परिंदा’ से लेकर ‘तिरंगा’ तक, जैसी कल्ट क्लासिक में नाना पाटेकर अपनी अदाकारी से एक अलग छाप छोड़ने में सफल रहे। नाना की सबसे पॉपुलर फिल्मों की बात करें तो इनमें तिरंगा, परिंदा और प्रहार के अलावा ‘क्रांतिवीर’ का नाम भी शामिल है। क्रांतिवीर के तो कई डॉयलॉग भी चर्चा में रहे थे। ‘ये मुसलमान का खून, ये हिंदू का खून…’ तो सभी की जुबान पर रहता है। इस फिल्म का एक और फेमस डायलॉग है, जिसके पीछे की कहानी भी बेहद जबरदस्त है।

सुपरहिट है नाना पाटेकर का ये डायलॉग

दरअसल, क्रांतिवीर के क्लाइमेक्स से पहले नाना पाटेकर की तबीयत ठीक नहीं थी और वह अस्पताल में भर्ती थे। ऐसे में वह अस्पताल से छुट्टी लेकर सीधे शूटिंग सेट पर पहुंच गए। फिल्म के क्लाइमेक्स में फांसी की सजा से पहले नाना पाटेकर एक डायलॉग बोलते हैं- ‘आ गए मेरी मौत का तमाशा देखने’। ये डायलॉग खूब पसंद किया गया और तो और दर्शकों को आज भी ये डायलॉग याद है। लेकिन, अब नाना पाटेकर ने बताया है कि फिल्म की स्क्रिप्ट में ये डायलॉग था ही नहीं। उन्होंने तुरंत ये सीन परफॉर्म किया था और ये डायलॉग भी उन्हीं की रचना थी।

कैसे तैयार हुआ ‘आ गए मेरी मौत का तमाशा देखने’ डायलॉग

नाना पाटेकर ने ‘द लल्लनटॉप’ को दिए इंटरव्यू में इसका खुलासा किया। उन्होंने इस बातचीत में बताया कि वह अक्सर राइटिंग स्टेज पर ही फिल्म के किरदार पर काम करते हैं। इस दौरान उनके दिमाग में जो भी लाइनें आती हैं, वह डायलॉग में जोड़ देते हैं। ऐसा ही क्रांतिवीर के क्लाइमेक्स वाले डायलॉग के साथ भी हुआ। वह हॉस्पिटल से छुट्टी लेकर सेट पर पहुंचे थे और जब वह शूटिंग कर रहे थे, इसी दौरान उनके दिमाग में ये लाइन आई और उन्होंने बस बोल दी,जो बाद में हिट हो गई।

ढाई घंटे में पूरा किया 6-7 दिन का शूट

बातचीत के दौरान नाना पाटेकर ने कहा- ‘हम अस्पताल में थे और दूसरे दिन क्रांतिवीर की शूटिंग थी। मैंने कहा, मैं आज मर गया तो मेरा प्रोड्यूसर और डायरेक्टर कल मर जाएगा। हम ऐसा करते हैं कि पहले फिल्म शूट कर लेते हैं। तो डॉक्टर भी मेरे साथ गए। उन्होंने 3-4 कार्डियोग्राम करवाए, सोचा ठीक है कर लेंगे। लेकिन, डॉक्टर ने कहा 2-3 दिन आराम करो, शूट बाद में करना।’ नाना पाटेकर ने खुलासा किया कि उन्हें चेस्ट में पेन था, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिल्म का क्लाइमेक्स 6-7 दिन में शूट होना था, लेकिन उन्होंने अस्पताल से छुट्टी लेकर 2-3 घंटे में ही शूट खत्म कर दिया।

Latest Bollywood News





Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Verified by MonsterInsights