‘राम मंदिर पर ताला न लगे…’, ‘अबकी बार 400 पार’ को लेकर पीएम मोदी ने बताई ये वजह


पीएम मोदी- India TV Hindi

Image Source : PTI
पीएम मोदी

लोकसभा चुनाव की तीसरे चरण की वोटिंग का दौर खत्म हो चुका है। इसी दौरान पीएम मोदी ने एक रैली में अबकी बार 400 पार सीट के पीछे की वजह बताई है। पीएम मोदी ने कहा कि कि एनडीए लोकसभा चुनाव में 400 सीटें इसीलिए जीतना चाहता था ताकि कांग्रेस को अयोध्या में राम मंदिर पर “बाबरी ताला” लगाने से रोका जा सके। जानकारी दे दें कि पीएम मोदी मध्य प्रदेश के धार में एक रैली को संबोधित कर रहे थे, इसी दौरान उन्होंने अपने भाषण के दौरान ये बातें कहीं।

‘400 सीटें क्यों मांग रहे हैं’

पीएम ने कहा कि देश के लिए यह जानना जरूरी है कि वह 400 सीटें क्यों मांग रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, “मोदी 400 सीटें चाहते हैं ताकि मैं कांग्रेस और INDI गठबंधन की सभी साजिशों को रोक सकूं। मोदी 400 सीटें चाहते हैं ताकि कांग्रेस खेल खराब करने के लिए आर्टिकल 370 वापस नहीं ला सके, मोदी 400 सीटें चाहते हैं ताकि कांग्रेस अयोध्या में राम मंदिर पर बाबरी ताला नहीं लगा सके।” पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को 400 सीटों की जरूरत है ताकि ‘कांग्रेस देश की खाली जमीन और द्वीपों को दूसरे देशों को न सौंप दें।’ 

लालू प्रसाद के बयान की आलोचना 

वहीं, पीएम मोदी ने मुसलमानों को रिजर्वेशन का लाभ देने के RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद के बयान की भी आलोचना की। बता दें कि राजद विपक्ष के INDI अलाएंस का हिस्सा है। पीएम मोदी ने अपने भाषण में आगे कहा, “मोदी 400 सीटें चाहते हैं ताकि कांग्रेस एससी/एसटी/ओबीसी को मिला रिजर्वेशन छीनकर अपने वोट बैंक को न दे दे और अपने वोट बैंक की सभी जातियों को रातों-रात ओबीसी घोषित न कर दे।”

4 जून को आएंगे रिजल्ट

जानकारी दे दें कि लोकसभा चुनाव 2024 के चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं। यह 19 अप्रैल को शुरू हुआ था जो 1 जून को समाप्त होगा। वहीं, वोटों की गिनती 4 जून को की जाएगी।

ये भी पढ़ें:

Lok Sabha Elections 2024: मायावती का बड़ा फैसला, भतीजे आकाश आनंद से छीना पार्टी का अहम पद, बोलीं- मेरा उत्तराधिकारी भी नहीं

 

 

Latest India News





Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading