इजरायल ने गाजा में बाइडेन के “युद्ध विराम” प्रस्ताव को स्वीकारा, मगर कहा-“अच्छी डील नहीं”


इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (फाइल)- India TV Hindi

Image Source : AP
इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (फाइल)

तेल-अवीवः इजरायल ने गाजा में बाइडेन के युद्ध विराम प्रस्ताव को स्वीकार लिया है। इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के एक सहयोगी ने कहा कि इज़रायल बाइडेन के गाजा प्रस्ताव को स्वीकार करता है लेकिन यह ‘अच्छा सौदा “नहीं’ है। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद देश अमेरिका द्वारा प्रस्तावित गाजा युद्ध रूपरेखा समझौते को स्वीकार करता है। नेतन्याहू के एक सहयोगी ने रविवार को बताया कि इज़रायल ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा गाजा युद्ध को समाप्त करने के लिए प्रस्तावित रूपरेखा समझौते को स्वीकार कर लिया है। 

हालांकि पीएम नेतन्याहू ने भी इसे “त्रुटिपूर्ण” बताया है। उनके सहयोगी ने कहा कि इस पर और अधिक काम करने की जरूरत है। नेतन्याहू के मुख्य विदेश नीति सलाहकार ओफिर फॉक ने एक ब्रिटिश अखबार से कहा कि बाइडेन का प्रस्ताव “एक सौदा था जिस पर हम सहमत हैं, लेकिन  यह एक अच्छा सौदा नहीं है। मगर हम चाहते हैं कि सभी बंधकों को रिहा किया जाए। फ़ॉक ने कहा, “बंधकों की रिहाई और नरसंहार करने वाले आतंकवादी संगठन हमास के विनाश” सहित कई विवरणों पर काम किया जाना बाकी है। क्योंकि उनमें कोई बदलाव नहीं आया है।

क्या है बाइडेन का प्रस्ताव

अमेरिकी राष्ट्रपति ने 31 मई को घोषणा की कि इज़रायल ने हमास को एक समझौते का प्रस्ताव दिया है, जिसमें प्रारंभिक छह सप्ताह के युद्धविराम के साथ आंशिक इज़रायली सैन्य वापसी और कुछ बंधकों की रिहाई के साथ “शत्रुता का स्थायी अंत” शामिल है। बाइडेन के अनुसार, यह प्रस्ताव “हमास के सत्ता में न रहने पर भी गाजा में एक बेहतर ‘दिन’ का निर्माण करता है”। उन्होंने कहा कि मध्यस्थों के जरिए डील पर बातचीत चल रही है। बाइडेन का प्रस्ताव तीन चरणों में है। 

पहला चरण

अमेरिकी राष्ट्रपति ने गाजा युद्ध विराम के प्रस्ताव को पेश करते हुए कहा, “यह युद्ध खत्म करने का समय है। उन्होंने कहा कि हमें युद्ध विराम को लेकर प्रारंभिक तौर पर हमास से भी सकारात्मक प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है। युद्ध विराम का पहला चरण छह हफ्ते का होगा। इस दौरान बुजुर्ग और महिला इजरायली बंधकों की रिहाई के बदले सैकड़ों फिलिस्तीनी कैदियों को मुक्त कर दिया जाएगा। इसके साथ ही इजरायली सेना गाजा के “सभी आबादी वाले क्षेत्रों” से हट जाएगी। तब फिलिस्तीनी नागरिक अपने घरों में लौट सकते हैं। गाजा के तबाह हुए इलाके में प्रति दिन 600 ट्रक मानवीय सहायता पहुंचाएंगे।

इस चरण में हमास और इज़राइल एक स्थायी युद्धविराम पर बातचीत करेंगे।  बाइडेन ने कहा है कि यह युद्ध विराम तब तक जारी रहेगा, जब तक  हमास अपनी प्रतिबद्धताओं (वादे) पर कायम रहेगा”। यदि बातचीत में छह सप्ताह से अधिक समय लगता है तो अस्थायी युद्धविराम जारी रहेगा।

युद्ध विराम का दूसरा और तीसरा चरण

बाइडेन ने कहा कि युद्ध विराम के दूसरे चरण में पुरुष सैनिकों सहित सभी शेष जीवित इजरायली बंधकों की अदला-बदली होगी। साथ ही इजरायली सेना गाजा से हट जाएगी और स्थायी युद्धविराम शुरू हो जाएगा। वहीं तीसरे चरण में गाजा के लिए एक प्रमुख पुनर्निर्माण योजना और बंधकों के “अंतिम अवशेषों” को उनके परिवारों को लौटाना शामिल होगा। अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले जो बाइडेन पर गाजा में संघर्ष को रोकने का भारी दबाव है। ऐसे में उन्होंने कहा कि अब इस युद्ध को खत्म करने और नए दिनों की शुरुआत का समय आ गया है। (रॉयटर्स)

यह भी पढ़ें

चीन नहीं चाहता कीव में हो युद्ध विराम, अन्य देशों पर बना रहा यूक्रेन शांति वार्ता में भाग न लेने का दबाव




इब्राहिम रईसी की मौत के बाद ईरान में शुरू हुआ राष्ट्रपति चुनावों का दौर, जानें किन दावेदारों ने किया नामांकन

 

 

 

Latest World News





Source link


Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Discover more from LIVE INDIA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Verified by MonsterInsights