पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की डायरियां जल्द बन सकती हैं किताब


प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पिता की हस्तलिखित डायरियो पर आधारित एक किताब प्रकाशित करवाने पर विचार कर रही है --कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि वह कलिंग लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान रसीद की दवाई के साथ एक सत्र में इसकी घोषणा करते हुए संस्था ने कहा कि हालांकि वह अपने पिता की जीवनी लिखना चाहेंगे लेकिन उन्हें नैतिक दुविधा का सामना करना पड़ेगा कि क्या शामिल किया जाए और किस बात का उल्लेख ना किया जाए सर्मिष्ठा शास्त्रीय या गाना भी है उन्होंने कई विषयों पर बात की और बताया कि उनके पिता उनके लिए 8000 किताबे और उन पाइपों का संग्रह छोड़ गए हैं ,जिससे धूम्रपान करते थे मुखर्जी के संस्मरण के चौथे और समापन खंड द प्रेसिडेशयाल इयर्स के बारे में बात करते हुए सर्मिष्ठा ने कहा यह पूरी तरह से मेरे पिता की किताब है इसमें उल्लिखित हर चीज से सहमत हो सकती हूं या नहीं या नहीं बता सकती मुझे बहुत दुख है कि वह अपने काम के बारे में बात करने के लिए यहां नहीं है उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व राष्ट्रपति ने नियमित रूप से डायरी लिखें डायरी लिखना उसके लिए एक दैनिक अनुष्ठान था अपने व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद वह अपने मॉर्निंग वॉक पूजा और डायरी लिखने से कभी नहीं मुखर्जी की एक बायोग्राफी के बारे में बात करते हुए संस्था ने कहा मेरे पास उनका लिखा हुआ जो कुछ है उसे पब्लिश करूंगी

from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/3r9qTTd
via liveindia

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां