क्या तमिल नाडु में BJP की मुश्किलें बढ़ाएगा येदियुरप्पा का बयान?

कावेरी नदी जल बंटवारे का विवाद एक बार फिर तब उभर आया जब रविवार को तमिलनाडु सरकार ने 14,400 करोड़ रुपये की 262 किलोमीटर लंबी नदी-जोड़ेन वाली परियोजना - कावेरी-वैगई-गुंदर - नदी इंटरलिंकिंग परियोजना की नींव रखी, जो बाढ़ के दौरान 6,300 क्यूबिक फीट अतिरिक्त पानी को डायवर्ट करेगा और पीने के पानी की जरूरतों को पूरा करने के लिए दक्षिणी जिलों में भूजल स्तर में वृद्धि करेगा।

from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/37DfCmT
via liveindia

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां