Ad

राम मंदिर भूमि पूजन से पहले अयोध्या में हनुमान जी के निशान का पूजन

राम मंदिर भूमि पूजन से पहले अयोध्या में हनुमान जी के निशान का पूजन Image Source : PTI

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला और भूमि पूजन से दो दिन पहले आज दस बजे हनुमान जी के निशान का पूजन किया गया। अयोध्या में मान्यता है कि किसी भी शुभ कार्य के पहले हनुमान जी के निशान का पूजन किया जाता है। ऐसे में पांच अगस्त को होने वाले राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले रविवार को हनुमान जी के निशान के पूजन का कार्यक्रम रखा गया। इस पूजन के दो दिन बाद यानि बुधवार को राम मंदिर का भूमि पूजन होना है। 

राम मंदिर के भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे। हनुमानगढ़ी के मुख्य पुजारी महंत राजू दास ने बताया कि "5 अगस्त को प्रधानमंत्री भूमि पूजन के लिए आ रहे हैं। उन्होंने तय किया है कि पहले वो हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे। यहां विशेष पूजा की व्यवस्था रहेगी।" महंत राजू दास ने बताया कि "हमें 7 मिनट दिए गए हैं इसमें प्रधानमंत्री का आना-जाना शामिल है, करीब 3 मिनट पूजा में लगेंगे।" 

गौरतलब है कि अयोध्या में 5 अगस्त की तैयारियां तेज़ हो गई है। पूरी अयोध्या को सजाया जा रहा है। 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के लिए गर्भ गृह पर भूमि पूजन होगा साथ में रामभक्तों के लिए नई अयोध्या तैयार की जा रही है। अयोध्या में घरों को एक रंग से पेंट किया जा रहा है साथ में दीवारों पर भगवान राम के जीवन से जुड़े चित्र पेंट किये जा रहे है। अयोध्या के साकेत महाविधालय से लेकर नयाघाट तक करीब 250 पेंटिंग बनाई जाएगी।

अयोध्या की दीवारों पर भक्तों को भगवान के बाल रूप से लेकर राजा रूप तक के दर्शन होंगे। पेंटिंग बनाने का काम शुरु हो गया है जो 3 अगस्त तक पूरा हो जाएगा। अयोध्या की दीवारों पर भगवान राम से जुड़े सारे प्रसंग उकेरे जाएंगे। रामजन्मभूमि के अंदर भी टेंट लगाया जा रहा है, यहां एक ऊंचा मंच बनाया जा रहा है। यही से पीएम मोदी 161 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और 326 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास करेंगे।

अयोध्या में 4 और 5 तारीख को घरो में दीपक जलाने की तैयारी है। अयोध्या की सड़कों पर लाउडस्पीकर लगाए जा रहे है जिनमे राम भजन सुनाई दे रहे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में उपस्थित होंगे इस दौरान वह दोपहर 12 बजकर 15 मिनट राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे।

हालांकि, कोरोना वायरस को देखते हुए हाल ही में श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट ने भगवान राम के भक्तों से पहले ही अपील की थी कि वह पांच अगस्त को होने वाले राम मंदिर निर्माण के 'भूमिपूजन' कार्यक्रम के लिए अयोध्या न पहुंचें। ट्रस्ट ने भक्तों से इस कार्यक्रम को टेलीविजन पर देखने और शाम को दीप जलाने की अपील की है। ट्रस्ट ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान बड़ी संख्या में लोगों का जुटना संभव नहीं होगा।



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/2Xe4Iib
via liveindia

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां