Ad

अमिताभ बच्चन ने की हेल्थ वर्कर्स की सराहना, कहा- ''सफेद पीपीई यूनिट में देवता के देवदूत हैं..."

अमिताभ बच्चन ने हेल्थ वर्कर्स की सराहना की Image Source : INSTAGRAM: @AMITABHBACHCHAN

कोरोना वायरस से संक्रमित अमिताभ बच्चन मुंबई के नानावटी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं। इस दौरान वो सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। उन्होंने इस मुश्किल घड़ी में अपनी जान की परवाह न करते हुए लोगों की सेवा में जुटे डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ की सराहना की है। उन्होंने उन्हें ''सफेद पीपीई यूनिट में देवता के देवदूत हैं" कहा है।

अमिताभ बच्चन ने सोशल मीडिया पर लिखा, "ये अत्यधिक परिस्थितियों में काम करते हैं, इसलिए हमारी स्थितियाँ सुरक्षित हैं .. देवता सफेद PPE इकाइयों में, डॉक्टर्स, नर्सों, सहायक कर्मचारियों के रूप में, फिर भी वे अभी भी समय निकालकर प्रार्थना करते हैं कि जिसका इलाज कर रहे हैं, वो ठीक हो जाए। उनके मरीज! रोज उनकी यही दुआ होती है।"

अमिताभ बच्चन ने दी जिंदगी की सीख, लिखा-संसार में गऊ बनने से काम नहीं चलता, जितना दबो, उतना ही दबाते हैं

बिग बी ने हेल्थ वर्कर्स की सराहना करते हुए एक और पोस्ट शेयर किया है। 

अमिताभ बच्चन ने हाल ही में एक फुटवेयर की तस्वीर शेयर की और लिखा, "नीदरलैंड्स के खूबसूरत डच क्लॉग्स .. और मेरी अपनी ऊनी मोज़री मुझे इन कोशिशों में गर्म रखने के लिए ..।"

इसके अलावा बिग बी ने एक और पोस्ट लिखा है, "विवेक - धैर्य, सही-गलत का बोध, विवेक, विवेक, आचरण ।। विवेक का उपयोग हर भारतीय भाषा में किया जाता है ... 'um' तेलुगु, तमिल, कन्नड़, मलयालम ... या 'ah' पंजाबी, जट, मराठी, गुजराती, कश्मीरी आदि.. विवेक शब्द का अर्थ एक ही है।"

बिग बी ने एक और पोस्ट शेयर किया और लिखा है, "एक हल्का सा हवा का झोंका जलते 'दीपक' को बुझा सकता है पर 'अगरबत्ती' को नहीं… क्योंकि जो 'महकता' है, वही पूरा जीवन आनंदित रहता है..., और जो 'जलता' है वह खुद बुझ जाता है।" 

बता दें कि अमिताभ बच्चन के साथ उनके बेटे अभिषेक बच्चन भी नानावटी अस्पताल में एडमिट हैं। वो भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। वहीं, ऐश्वर्या और आराध्या की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। 



from India TV Hindi: entertainment Feed https://ift.tt/3hLdY5d
via liveindia

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां